बस यवतमाल से मुंबई जा रही ....

बस में आग लगने से 11 जिंदा जले, 38 जख्मी


नासिक l महाराष्ट्र के नासिक में शनिवार सुबह  बस और आयशर ट्रक के बीच टक्कर से अगले हिस्से में आग लग गई। देखते ही देखते 20 मिनट में बस धू-धूकर जल गई। हादसे में बस में सवार 11 लोग जिंदा जल गए। इनके अलावा, 38 यात्री जख्मी हुए हैं। बस यवतमाल से मुंबई जा रही थी। दुर्घटना सुबह 4:30 बजे की है। ज्यादातर लोगों यात्रियों ने बस से कूदकर जान बचाई। आग बुझाने में 2 घंटे से ज्यादा का वक्त लग गया। स्थानीय लोगों ने फौरन मदद पहुंचाई। घायलों को मेडिकल टीम अस्पताल ले गई। टीम लाशों और घायलों को चादर में उठाकर ले गए।आग इतनी भीषण थी कि बस पूरी तरह जल गई।

हादसा नासिक-औरंगाबाद रूट पर नंदूरनाका के पास हुआ। बस चिंतामणि ट्रेवल्स की थी। इसमें 45-50 लोग सवार थे। पुलिस उपायुक्त अमोल तांबे ने हादसे की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि 10 लोगों की मौत हुई है। पीएम मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है। उधर, महाराष्ट्र के CM एकनाथ शिंदे ने कहा है कि घायलों के इलाज का खर्च सरकार उठाएगी।

वाशिम जिले के लोनी की रहने वाली अनीता सुकदेव चौधरी ने बताया, 'जब मैं सो रही थी, बस और ट्रक में टक्कर हुई। मैं सीट से नीचे गिर पड़ी। इसके बाद बस के अगले हिस्से से आग की लपटें निकलने लगी। मैंने खिड़की से कूद कर जान बचाई। 20 मिनट बाद दमकल की गाड़ी यहां पहुंची।'

यवतमाल के पिराजी सुभाष धोत्रे ने बताया, 'मैं अपने चाचा-चाची के साथ कल्याण जा रहा था। सभी लोग सोए हुए थे। आग से चाचा जी काफी झुलस गए हैं। हालांकि, समय पर खिड़की से कूदने के कारण हम तीनों की जान बच गई।'

पूजा चव्हाण नाम की एक महिला यात्री ने बताया, 'मैं अपने दो बच्चों के साथ बस यात्रा कर रही थी। हम सो रहे थे तभी अचानक लोगों का शोर सुनाई दिया। बस के अगले हिस्से में आग नजर आई। इसके बाद हमने खिड़की से अपने दोनों बच्चों के साथ छलांग लगा दी। इसमें उनका हाथ झुलस गया है। हालांकि, इस कोशिश से मेरे दोनों बच्चे सेफ हैं। हमें दूसरा जीवन मिला है। अगर कुछ देर हो जाती तो हमारे साथ कुछ भी हो सकता था।'

ऐसा कहा जा रहा है कि सबसे ज्यादा जनहानि बस के अगले हिस्से में हुई। सुबह का समय होने के कारण ज्यादातर यात्री सो रहे थे, इसलिए उन्हें भागने का मौका नही मिल सका। मरने वालों में बस का ड्राइवर और कुछ बच्चे भी शामिल हैं। महाराष्ट्र के CM एकनाथ शिंदे ने मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपए देने का ऐलान किया है। घायलों को फ्री में इलाज करवाया जाएगा। शिंदे ने कहा- 3 लोगों को प्राइवेट अस्पताल में एडमिट कराया गया है। हादसे को गंभीरता से लिया जाएगा और इसकी जांच कराई जाएगी।