महाकाल लोक का लोकार्पण ...

पीएम मोदी ने आधा घंटा की बाबा महाकाल की पूजा


उज्जैन l
उज्जैन के श्री महाकाल लोक का लोकार्पण करने के लिए प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी शाम करीब 4:50 बजे इंदौर पहुंचे। इंडियन एयर फोर्स के प्लेन से इंदौर के देवी अहिल्या एयरपोर्ट पर पहुंचे पीएम मोदी का भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। इस दौरान पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, कैलाश विजयवर्गीय और तुलसी सिलावट मौजूद रहे। इंदौर एयरपोर्ट से पीएम मोदी हेलीकॉप्टर के माध्यम से उज्जैन में महाकाल लोक का लोकार्पण करने के लिए रवाना हुए। 20 मिनट का सफर तय करन के बाद पीएम मोदी उज्जैन पहुंचे। इसके बाद वह महाकाल मंदिर पहुंचे हैं। करीब 5:30 बजे पीएम मोदी ने महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह में बाबा महाकाल की पूजा-अर्चना की।


पीएम मोदी ने करीब आधा घंटा महाकाल मंदिर में बिताया। पूजन करने के बाद उन्होंने महाकाल परिसर के अन्य मंदिरों के भी दर्शन किए। इस दौरान उनके साथ सीएम शिवराज, ज्योतिरादित्य सिंधिया और राज्यपाल मंगुभाई पटेल भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सात बजकर तीन मिनट पर श्री महाकाल लोक का लोकार्पण किया। इस दौरान कलावे से बना शिवलिंग कवर से बाहर निकाला गया। यह महाकाल लोक का प्रतीक स्वरूप माना गया था। रक्षासूत्र से बने 16 फीट ऊंचे शिवलिंग के अनावरण के साथ लोकार्पण संपन्न हुआ। पीएम मोदी ने इलेक्ट्रिक वाहन से महाकाल कॉरिडोर का भ्रमण किया। उनके साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान भी इलेक्ट्रिक वाहन पर सवार थे। इस दौरान सीएम शिवराज ने पीएम मोदी को महाकाल लोक के बारे में जानकारी भी दी। उधर, महाकाल लोक में बने मंडपम में देशभर से 750 कलाकार अपनी प्रस्तुति दे रहे थे। इनके बीच से मोदी-शिवराज गुजर रहे थे।


पीएम मोदी ने रिमोट का बटन दबाकर लोकार्पण की प्रक्रिया पूरी की। पीएम मोदी महाकाल का पूजन करने पहुंचने वाले देश के चौथे प्रधानमंत्री हैं। उनके पहले सन 1959 में पंडित जवाहरलाल नेहरू, 1977 में मोरारजी देसाई और 1988 में राजीव गांधी ने बाबा महाकाल के दर्शन कर पूजा-अर्चना की थी। महाकाल मंदिर के मुख्य पुजारी पं. घनश्याम हैं। पीढ़ी दर पीढ़ी पं. घनश्याम का परिवार ही बाबा महाकाल में मुख्य पूजा संपन्न कराता आ रहा है। आज भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूजन विधि मुख्य पुजारी पं. घनश्याम ने ही संपन्न कराई। विशेष पूजा को देखते हुए महाकाल शिवलिंग का शृंगार सादगीपूर्ण तरीके से ही किया गया था। महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री मोदी और शिवराज सिंह ने जनता को संबोधित किया। सबसे पहले मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने संक्षिप्त संबोधन दिया और फिर पीएम मोदी ने संबोधित किया। 


सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा- आज तो संपूर्ण मध्यप्रदेश में आनंद बरस रहा है। मोदी जी पधारे हैं। ऐसे हमारे दुनिया के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता और प्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए दोनों हाथ ऊपर उठाकर स्वागत करें। चौहान ने कहा- मध्यप्रदेश के हर शहर, गांव में नहीं, पूरे देश में मोदी को सुनने और शिव की पूजा करने बैठे करोड़ों-करोड़ भाई-बहनों...अद्भुत आनंद है। महाकाल लोक का समर्पण महाकाल महाराज को ही किया है। अद्भुत महाकाल लोक बना है। भारत प्राचीन और महान राष्ट्र है। पांच हजार साल से अधिक का तो ज्ञात इतिहास है। दुनिया के विकसित देशों में जब कुछ नहीं था, तब हमारे यहां वेद लिखे जा चुके थे। हम विश्व का कल्याण करनेकी सोचतना है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, उज्जैन की यह ऊर्जा, यह उत्साह, अवंतिका की यह आभा, यह अद्भुत यह आनंद, महाकाल की यह महिमा, यह महात्म्य,... शंकर के सानिध्य में कुछ भी साधारण नहीं है। असाधारण है। यह महसूस कर रहा हूं कि हमारी तपस्या से महाकाल प्रसन्न होते हैं तो ऐसे ही भव्य स्वरूपों का निर्माण होता है। जब महाकाल का आशीर्वाद मिलता है तो काल की रेखाएं मिट जाती हैं। 


समय की सीमाएं मिट जाती हैं। अंत से अनंत की यात्रा आरंभ हो जाती है। महाकाल लोक की यह भव्यता भी समय की सीमा से परे आने वाली कई पीढ़ियों को आलौकिक दिव्यता के दर्शन कराएगी। भारत की अध्यात्मिक और सांस्कृतिक चेतना को ऊर्जा देगी। मैं इस अद्भुत अवसर पर राजाधिराज महाकाल के चरणों में शत-शत नमन करता हूं। मैं आप सभी को देश-दुनिया में महाकाल के सभी भक्तों को ह्दय से बहुत-बहुत बधाई देता हूं। विशेष रूप से भाई शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार, उनका मैं ह्दय से अभिनंदन करता हूं। जो लगातार इतने समर्पण से इस सेवा यज्ञ में लगे हुए हैं। साथ ही मैं मंदिर ट्रस्ट से जुडे सभी लोगों, संतों-विद्वानों का आभार प्रकट करता हूं। जिनके प्रयास यह सफल हुआ है।