बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले…

TMC में लगी इस्तीफों की झड़ी, एक और विधायक ने छोड़ी पार्टी

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में राजनीतिक हलचल तेज होती जा रही है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के शनिवार से शुरू हो रहे 2 दिवसीय दौरे से पहले तृणमूल कांग्रेस में इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है. पार्टी की एक और विधायक ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है. तृणमूल कांग्रेस की विधायक बनासरी मैती ने भी शुक्रवार को पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है और उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. बनसारी पार्टी छोड़ने वाले शुभेंदु सरकार के गढ़ कहे जाने वाले पूर्वी मिदनापुर जिले से ताल्लुक रखती हैं. वह जिले की कांति उत्तर से विधायक हैं. ममता बनर्जी की पार्टी में विधानसभा चुनाव से पहले भगदड़ मच गई है. 

इससे पहले आज शुक्रवार सुबह पहले बैरकपुर से विधायक शीलभद्र दत्ता ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर डाला और दोपहर आते-आते अल्पसंख्यक सेल में महासचिव कबिरुल इस्लाम ने भी इस्तीफा दे दिया. पिछले दिनों शुभेंदु अधिकारी और शुक्रवार को इन दो नेताओं के बाद अब बनसारी ने भी टीएमसी छोड़ दी है, जो पार्टी की चिंता बढ़ाने वाला है. शीलभद्र दत्ता 24 परगना जिले के बैरकपुर से विधायक हैं. शीलभद्र दत्ता ने पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी को अपना इस्तीफा भेज दिया. शीलभद्र दत्ता पार्टी छोड़ने से पहले कई बार प्रशांत किशोर को लेकर नाराजगी जता चुके हैं. प्रशांत के काम करने के तरीके को उन्होंने मार्केटिंग कंपनी जैसा करार दिया और कहा था कि ऐसे माहौल में काम नहीं हो सकता है. 

शीलभद्र के बाद अब टीएमसी नेता कबिरुल इस्लाम ने भी टीएमसी के अल्पसंख्यक सेल के महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया. विधानसभा चुनाव से पहले ही टीएमसी में पिछले काफी दिनों से पार्टी के नेताओं ने मोर्चा खोल रखा है, और अब लगातार इस्तीफे शुरू हो गए हैं. पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी के बाद शीलभद्र दत्ता ने इस्तीफा दिया. यही नहीं जितेंद्र तिवारी भी बागी रुख अपना चुके हैं. यह इस्तीफा ऐसे समय में हो रहा है जब गृह मंत्री और बीजेपी के पू्र्व अध्यक्ष अमित शाह 2 दिन के बंगाल दौरे पर शनिवार को पहुंच रहे हैं. शाह दो दिनों तक बंगाल में रहेंगे और इस दौरान वह कई बैठकों में हिस्सा लेंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि अमित शाह के बंगाल दौरे के दौरान कई नेता बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.