चम्बल कमिश्नर ने बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश...
बाहर जाने वाले मजदूरों को पैदल नहीं चलना पड़े : श्री ओझा

मुरैना। चम्बल संभाग के कमिश्नर एमबी ओझा ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिये प्रभावी प्रयास किये जाये। उन्होंने कहा कि अब बड़ी संख्या में मजदूर जिलों में आ रहे है। विशेषकर आगरा, दिल्ली और गुजरात के अहमदाबाद से आने वाले मजदूर इस संक्रमण से ज्यादा प्रभावित है। इन स्थानों से आने वाले मजदूरों के सेम्पल जरूर लें। श्री ओझा शुक्रवार को चम्बल भवन के अपने कक्ष में अधिकारियों से रूबरू हो रहे थे। श्री ओझा ने शुक्रवार को चम्बल संभाग के कमिश्नर का पदभार ग्रहण करने के पश्चात् उनकी यह पहली बैठक थी। 

बैठक में कलेक्टर  प्रियंका दास, अपर आयुक्त चम्बल अशोक कुमार चैहान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तरूण भटनागर, नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, संयुक्त आयुक्त राजेन्द्र सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आरसी बांदिल, सिविल सर्जन सहित महिला बाल विकास एवं जनसम्पर्क विभाग के संयुक्त संचालक सहित अन्य विभागों के अधिकारी सोशल डिस्टेसिंग के अनुसार उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर प्रियंका दास ने जिले में कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिये अभी तक किये गये प्रयासों का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि प्रतिदिन तीन, साढ़े तीन हजार लेवर आ रही है। 

उन्होंने यह भी बताया कि मुरैना में अन्य प्रदेश के जिलों के मजदूरों को समुचित व्यवस्थाओं के साथ उनके गृह जिलों को भेजा है। कलेक्टर ने अभी तक घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया तथा वहां लोगों को सुरक्षित रखने के लिये किये गये प्रयासों तथा अभी तक डिस्चार्ज किये गये मरीजों की स्थिति को बताया। चम्बल कमिश्नर ने पी.पी.टी. किट की पूर्ति कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने जिला अस्पताल सहित प्रयवेट पेथोलाॅजी में एक साथ कई मरीजों की जांच के लिये सी.बी. नेट एवं रेविट किट तथा सी.बी. नेट में लगने वाले काॅटेज की अनुमति शासन से लेने की बात कही। उन्होंने सिविल सर्जन, मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी से कहा कि अत्यावश्यक स्थिति में ही मरीजों को रैफर किया जाये। 

उन्होंने कहा कि पीपी किट सीमित मात्रा में है। इसका उपयोग लेवर टू लेवर थ्री एवं चिकित्सकों एवं नर्सों को करने को किया जाये। मास्क का वितरण सभी स्टाॅफ को किया जाये। जिला पंचायत के सीईओ श्री भटनागर को कमिश्नर ने निर्देश दिये कि सभी ग्राम पंचायतों में मनरेगा के कार्य प्रारंभ करके बाहर से आये मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराये। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये कि बाहर से आये चिकित्सकों को समुचित सुविधायें देते हुये उन्हें मुरैना में ही रोके। 

उन्होंने जिले के संचालित नर्सिंग काॅलेज की ट्रेड नर्सों की सेवायें लेने के भी निर्देश दिये। कमिश्नर ने महिला बाल विकास विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुये सहरिया क्षेत्र पहाडगढ़ में डे केयर सेन्टर स्वीकृत कराने की पहल करने के निर्देश संयुक्त संचालक को दिये। बैठक में चम्बल कमिश्नर ने नगर निगम के अधिकारियों को सम्पूर्ण काॅलोनी मोहल्लों में साफ-सफाई और सेनेटाईज कराने के कार्य में लगाने के निर्देश नगर निगम कमिश्नर को दिये।